सीएनई रिपोर्टर, सुयालबाड़ी/गरमपानी

उद्यान सचल दल सुयालबाड़ी की ओर से यहां हुए एक विशेष कार्यक्रम में स्थानीय कृषकों को स्ट्रॉबेरी के 20 हजार पौध उपलब्ध कराये गये। साथ ही फसल उत्पादन की नवीनतम तकनीक से अवगत भी कराया गया।

विभाग के सहायक विकास अधिकारी गोपाल सिंह नेगी, उद्यान सहायक तुलसी राम व उद्यान सहायक राजेंद्र कुमार विभाग द्वारा चलाई जा रही सरकार की योजना के अंतर्गत 10 कृषकों को 20 हजार स्ट्रॉबेरी के पौध उपलब्ध कराये। प्रति किसान दस—दस हजार पौध दिये गये। इस मौके पर मौजूद किसानों की विभिन्न शंकाओं का मौके पर समाधान किया गया।


इस मौके पर सुयलागाड़ के कृषक विनोद चंद्र व अन्य कृषक लाभार्थियों में शामिल रहे। सहायक विकास अधिकारी गोपाल सिंह नेगी ने मौजूद कृषकों को पौधारोपण की विधि व रखरखाव की प्रणाली से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि यह पौध नमी वाली जगहों पर होते हैं ओर कृषकों की आजीविका बढ़ाने में सहायक होंगे।

उल्लेखनीय है कि स्ट्राबेरी एक नरम फल है, जिसको विभिन्न प्रकार की भूमि तथा जलवायु में उगाया जा सकता है। इसका पौधा कुछ ही महीनों में फल देता है। इस फसल का उत्पादन बहुत लोगों को रोजगार दे सकता है। स्ट्रॉबेरी एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन ‘सी’, प्रोटीन और खनिजों का एक अच्छा प्राकृतिक स्रोत है। इस पौध की कई प्रजातियां होती हैं। बाजार में इसकी अच्छी कीमत मिल जाती है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here