सांकेतिक फोटो

एटा। जनपद में एक हीं घर मिले 5 शव मामले में अमह खुलासा हुआ है। जो आप सुन कर हैरान हो जाएगे। मामले का खुलास एसपी सुनील कुमार ने किया उन्होंने कहा कि दिव्या शर्मा ने पहले अपने ससुर राजेश्वर प्रसाद पचौरी, बहन बुलबुल, दो बच्चे आरूष और छोटू को खाने में विषाक्त पदार्थ मिलाकर दिया था। इसके बाद सभी के मरने की पुष्टि के लिए उनके गले दबाए और बाद में खुद भी विषाक्त पदार्थ का सेवन किया और हाथ की नस काटकर आत्महत्या कर ली। मामले के पीछे गृहक्लेश सामने आ रहा है। हालांकि पुलिस पति से भी पूछताछ कर रही है।

क्या है पूरा मामला?
शनिवार की सुबह जब दूधिया रिटायर्ड स्वास्थ्य कर्मी के घर दूध देने पहुंचा तो दरवाजा नहीं खुला था। इस पर उसने अंदर झांकर देखा तो वहां शव पड़े थे। उसने पड़ोसियों को बताएं मौके पर आस-पास के लोग जुट गए। 5 शव होने की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में ले कर छानबीन शुरू कर दी थी।

बता दें कि घटना थाना कोतवाली नगर के श्रंगार नगर कालोनी की है। जहां रिटायर्ड स्वास्थ्य कर्मी के घर में 2 मासूम बच्चों सहित 5 लोगों के शव घर में मिले है। एक ही परिवार के 5 लोगों के शव मिला है। मृतकों में (78) वर्षीय राजेश्वर प्रसाद पचौरी स्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड व उनकी पुत्र वधु (35) दिव्या पचौरी व मृतक दिव्या की बहन (24) वर्षीय बुलबुल, व (10) वर्षीय आयुष बेटा व दूसरा बेटा (01) साल का है।


SP ने बताया कि मामले की गंभीरता से जांच कराई गई तो सामने गृहकलेश आया। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खाने में जहर की भी पुष्टि हुई है। उन्होंने ने कहा कि यह किसी ने हत्या नहीं कि है,बल्कि इन 5 मौते के पीछे गृहकलेश की वजह थी।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here