अल्मोड़ा। यहां सल्ट क्षेत्र में गोलीकांड का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां मोटर मार्ग निर्माण में बरती जा रही कथित धांधली और सैकड़ों हरे पेड़ काटे जाने की शिकायत करने वाले एक व्यक्ति पर जानलेवा हमला हुआ है। बदमाशों ने रात एक बजे घर में दाखिल होने के बाद शिकायतकर्ता पर फायर झोंकी और उसे मरा समझ लौट गये। इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

​शिकायतकर्ता हरेंद्र सिंह रावत

प्राप्त जानकारी के अनुसार सल्ट ब्लाक के मछोड़ तहसील के अंतर्गत पटवारी क्षेत्र पटवारी क्षेत्र जाख, ग्राम तया में मोटर मार्ग निर्माण को लेकर हुए विवाद में गोलीकाण्ड का सनसनीखेज मामला सामने आया है। दरअसल, सुरेंद्र सिंह रावत पुत्र गोपाल सिंह निवासी ग्राम पोस्ट तया, पटवारी क्षेत्र जाख, तहसील सल्ट द्वारा उपजिलाअधिकारी भिक्यिासैंण सल्ट को तहरीर दी गई है। जिसमें सुरेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गत 5 मई को उन्होंने एक शिकायत पत्र थापला—धराही—बाराहाकोट—तया मोटर मार्ग के संदर्भ में उपजिलाअधिकारी कार्यालय में दिया था। इस दिन रात 9 बजकर 40 मिनट पर उनके मोबाईल पर एक कॉल आई, फोन करने वाले ने अपना नाम हंसा नेगी बताया। उसने उन्हें फोन पर सड़क के मामले में नही पड़ने और जान से मारने की धमकी दे डाली। इसे बाद रात करीब सवा एक बजे दो से चार अज्ञात बदमाश उनके घर में दाखिल हुए। गेट खुलते ही मुंह में कपड़ा लपेटे इन बदमाशों को उन्होंने देख दिया और वह अपने कमरे की खिड़की के नीचे छिप गये। तभी इन बदमाशों ने खिड़की के बाहर से अपने कट्टे से फायर झोंक दिया, जो उनके बिस्तर को चीरता हुआ दीवार पर जा लगा। इसके बाद बदमाश उन्हें मरा समझ वापस लौट गये। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा घट क्रम की सूचना उसी समय क्षेत्र के कानूनगो व पटवारी को दी। सुरेंद्र रावत ने उपजिलाअधिकारी से मांग की है कि पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाये।

जांच में मिले गोली चलने के सबूत, हमलावर अज्ञात : नायब तहसीलदार
अल्मोड़ा। नायब तहसीलदार भिक्यिासैंण सल्ट कुलदीप पाण्डे ने कहा कि उन्होंने मौके पर पहुंच कर छानबीन की। वहां कमरे में गोली के निशान मिले हैं, लेकिन यह गोली किसके द्वारा चलाई गई है अभी इस संबंध नही कहा जा सकता। उसको लेकर छानबीन की जा रही है।


लगभग 150 पेड़ों का हुआ है कटान
नायब तहसीलदार ने बताया कि देवराड़ी से तया तक लगभग 5 से 6 किलोमीटर नयी रोड का कटान चल रहा था। जिसमें लगभग साढ़े 3 से 4 किलोमीटर रोड़ काटी जा चुकी है। जिसमें लगभग 150 से अधिक शाल के हरे पेड़ काटे गये हैं। जेसीबी द्वारा जो रोड का कटान किया जा रहा था, वहां मौके पर कोई नही मिला। वहीं उन्होंने बताया कि ग्रामीणों का कहना है कि जो ठेकेदार द्वारा गलत रास्ते से रोड काटान किया जा रहा था। जिसके लेकर ही यह विवाद हुआ। नायाब तहसीलदार कुलदीप पांडे ने बताया कि ग्राम प्रधान लक्ष्मण सिंह को जब बुलाया गया तथा उनसे कहा कि काटी जा रही रोड तक हमारे साथ चलो। तो ग्राम प्रधान वहां से बहाने बनाते हुए फरार हो गया।

हमें प्रकरण की जानकारी नही : वन क्षेत्राधिकारी

वन क्षेत्र अधिकारी सेवा राम मौर्य से जब इस प्रकरण पर वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि पेड़ों के संबंध में कहा कि उन्हें कोई जानकारी नही है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार का मामला सामने आता है तो जांच की जायेगी।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here