हल्द्वानी। जिले के ग्रामीण एवं शहरीय क्षेत्र के सभी ग्रामीण इलाकों तथा शहरीय इलाकों में बाहर से आने वाले लोगों के सत्यापन के लिए जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा सीआरटी (सिटी रिस्पांस टीम), बीआरटी (ब्लाक रिस्पांस टीम) का गठन किया है। यह टीमें जिले के हर घर में जाकर बाहर से आने वाले लोगों का सत्यापन कर रही है तथा उनसे सम्बन्धित कोरेन्टाइन, मेडिकल जांच की कार्यवाही भी कर रही है। जिलाधिकारी ने सीआरटी तथा बीआरटी के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं शहरीय क्षेत्रों में जो टीमें तथा अधिकारी व कर्मचारी लगाये गये हैं। वह लगातार कार्य करें तथा पुनः सर्वे करते हुये छूटे हुये लोगों को खोजें तथा नये आये हुये लोगों के बारे में जानकारी जुटायें, लगाये गये सभी कर्मचारी लोगों को सामाजिक दूरी के महत्व के साथ ही मास्क लगाने तथा सेनेटाइजर प्रयोग करने लिए प्रेरित करें।
मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने बैठक में बताया कि सीआरटी द्वारा जनपद के नगर निगम तथा सभी नगर पालिकाओें नगर पंचायतों के वार्डों के 1531 घरों में जाकर जांच की तथा जानकारियां हासिल की। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्रों के गठित टीमों द्वारा 8600 घरों में जाकर जानकारियां जुटाई। इस प्रकार जिले भर में 10131 घरों में जाकर जांच का कार्य किया। उन्होंने बताया कि जनपद भर में 237 टीमें कार्यरत हैं। जिसमेें से 111 टीमें जनपद के आठ विकास खण्डों में तथा 126 टीमें जिले भर के स्थानीय निकायों में कार्य कर रही हैं।
जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी ने बताया कि जिले के 6 निकायों तथा 1 नगर निगम में अधिशासी अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी तथा चिकित्सक की टीम के अधीन वार्ड रिस्पांस टीम जिसमें आशा, आंगनबाड़ी तथा नगर पालिका का एक कर्मचारी वार्ड में जाकर सत्यापन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जनपद के आठ विकास खण्डों में खण्ड विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी की टीम के अधीन विलेज रिस्पांस सर्वे टीम जिसमें ग्राम विकास अधिकारी, आशा तथा आंगनबाड़ी कार्यक​त्री घर-घर जाकर सर्वे का कार्य कर रही हैं।
जानकारी देते जिला अर्थ एवं सांख्यकीयधिकारी ललित मोहन जोशी ने बताया कि जनपद के सर्वेे के अलावा राज्य सेटेलाइट कन्ट्रोल रूम से जनपद में 577 लोगों की सूची उपलब्ध कराई गयी थी जो कि जनपद के बाहर के ब्लाकों से आये हुये थे। इस सभी 577 लोगों का भी सत्यापन सीआरटी तथा बीआरटी द्वारा कराया गया। जोशी ने बताया कि शहरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को घर में ही कोरेन्टाइन किये जाने की सलाह दी जा रही है।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा. भारती राणा, नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, डिप्टी सीएमओ डा. तरूण कुमार टम्टा, डा. रश्मि पंत, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट आदि मौजूद थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here