सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

जनपद के भिकियासैंण दलित नेता जगदीश चंद्र की हत्या के मामले को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राॅय ने कहा कि राजस्व क्षेत्र का मामला होने के बावजूद अल्मोड़ा पुलिस ने एक्शन लिया था। अब इस पूरे घटनाक्रम की जांच सीओ अल्मोड़ा को सौंपी गई है।

एसएसपी प्रदीप राॅय ने प्रेस वार्ता में कहा कि गत 27 अगस्त को पत्र मिलने के बाद उसमें लिखे भतरौंजखान के पते पर पुलिस ने खोजबीन की थी। दोनों पतों पर इंस्पेक्टर भतरौजखान को भेजा गया था, लेकिन उपरोक्त पदों पर यह लोगों नहीं पाए गए थे। तब यह निर्णय लिया गया था कि यदि लड़की वाले संपर्क करते हैं तो उन्हें पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जायेगी।




जिसके बाद 01 सितंबर को लड़के केे अपहरण की फोन से सूचना मिलने पर राजस्व पुलिस क्षेत्र होने के बावजूद भी रेगुलर पुलिस ने तत्काल संज्ञान लेते हुए एक्शन लिया और सर्च अभियान भी चलाया। इस दौरान मृतक शरीर को बरामद करने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी भी की गई थी। उन्होंने कहा कि फिलहाल इस मामले की सीओ अल्मोड़ा को जांच सौंपी गई है। अगर किसी भी स्तर पर लापरवाही हुई है तो कार्रवाई होगी।

विवेचना रेगुलर पुलिस को हस्तान्तरित, सीओ ने की यह कार्रवाई

एसएसपी ने बताया कि मामले की विवेचना राजस्व पुलिस से रेगुलर पुलिस में स्थानान्तरित हो गई है, जिसमें सीओ रानीखेत को विवेचनाधिकारी नियुक्त कर मामले में गहनता से जांच करने के निर्देश दिये गये हैं। इस निर्देश पर मामले में विवेचनाधिकारी सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा द्वारा फॉरेंसिक टीम व पुलिस बल को साथ लेकर तत्काल सेलापानी भिकियासैंण रोड घटनास्थल में जाकर निरीक्षण कर आवश्यक कार्यवाही की गई है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here