अल्मोड़ा। एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा द्वारा लाॅकडाउन के दौरान चलाई जा रही जीवन रक्षक पहल ‘उम्मीद’ से न केवल स्थानीय लोग ही लाभन्वित हो रहे हैं, बल्कि अन्य जनपद जैसे पिथौरागढ़, बागेश्वर के दूरस्थ गांव, अल्मोड़ा, रूद्रपुर में निवासरत जिन्हें आवश्यक दवाइयाॅ उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं, वे भी एक काॅल, ट्वीट, फेसबुक आदि माध्यमों से लाभान्वित हो रहे हैं।


इसी क्रम में प्रकाश चन्द्र जो कि श्वास के मरीज हैं, जिन्हें लगातार आक्सीजन की आवश्यकता रहती है, उनके बेटे पंकज तिवारी द्वारा कई प्रयासों के बावजूद भी बरेली से सिलेण्डर लाने में असमर्थ हुए। इसी दौरान उनकी नजर अल्मोड़ा पुलिस के फेसबुक पेज एवं अखबार पर एक खबर पर पड़ी, जिसमें कई लोग उम्मीद पहल का लाभ ले रहे हैं। पंकज तिवारी द्वारा तत्काल एसएसपी को काॅल किया जिस पर तत्काल संज्ञान लेते हुए बरेली से आ​क्सीजन सिलैण्डर उनके निवास स्थान खोल्टा में पहुंचाया गया, जिससे उनमें जीने की एक नई उम्मीद जाग गयी।

प्रकाश चन्द्र द्वारा पूरे उत्तराखण्ड पुलिस परिवार को आर्शिवाद दे कर नावाजा गया। उन्हें के शब्दों में ”सिलेण्डर बगैर हालत हैग्छी बेकार, उत्तराखण्ड पुलिस त्यर हो जै-जै कार।”


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here