खटीमा| उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि पृथक राज्य निर्माण के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देने वाले आंदोलनकारी राज्य की धरोहर हैं और राज्य सरकार शहीदों के सपनों के अनुरूप समृद्ध उत्तराखंड बनाने के लिये संकल्पबद्ध हैं।

धामी ने खटीमा गोलीबारी की 28वीं बरसी के खटीमा में शहीद स्थल पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी और उनके स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने शहीदों के परिजनों का शाल ओढ़ाकर सम्मान भी किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि खटीमा राज्य आंदोलन की जननी रहा है। जब तक अंतिम पायदान में खड़े व्यक्ति को लाभ नहीं मिले तब तक शहीदों का सपना पूरा नहीं कहलाया जा सकता। उन्होंने आगे कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत भी केन्द्र सरकार ने सभी शहीदों को स्मरण किया।




उन्होंने कहा कि उनकी सरकार खाली घोषणा नहीं करेगी बल्कि उसका शासनादेश भी जारी करेगी और उस घोषणा का लोकार्पण भी किया जायेगा। उन्होंने कहा कि खटीमा में सीएसडी कैंटीन, रोडवेज बस स्टेशन का निर्माण कार्य, सड़कों का डामरीकरण, बाईपास निर्माण, शारदा घाट, स्नान घाट, क्रोकोडाइल पार्क जैसे अनेक कार्य किये गये हैं और कई योजनायें जारी हैं। आगे भी खटीमा के विकास में कमी नहीं आने दी जायेगी।

केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने भी शहीदों का नमन किया और श्रद्धा सुमन अर्पित किये। उन्होंने कहा कि सरकार व शासन प्रशासन शहीदों के परिवार के साथ खड़ी है। जिन शहीदों के बल पर राज्य का निर्माण हुआ है, उनको कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इस मौके पर वन विकास निगम के अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी, विधायक शिव अरोड़ा, उक्रांद नेता काशी सिंह ऐरी तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

UKSSSC पेपर लीक में उत्तराखंड पुलिस का जवान गिरफ्तार

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here