उत्तराखंडबागेश्वरमौसमसी एन ई विशेष

बागेश्वर न्यूज : कांडा, कपकोट और दुग नाकुरी के 236 गांवों की आपूर्ति ठप

बागेश्वर। जिले में बारिश ने बिजली का संकट भी बढ़ा दिया है। तीन क्षेत्रों में बारिश ने विद्याुत व्यवस्था को बिगाड़ कर रख दिया है। कांडा, कपकोट और दुग नाकुरी क्षेत्र के 236 गांवों की आपूर्ति बाधित हो गई है। इससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जल्द बिजली आपूर्ति सुचारू कराने की मांग की है।
बागेश्वर से कांडा-विजयपुर को जोड़ने वाली 33 केवी की बिजली लाइन भूस्खलन की जद में आ गई। घिंघारतोला के पास हुए भूस्खलन से लाइन के क्षतिग्रस्त होने खतरा बढ़ गया था। इस वजह को विभाग जिला मुख्यालय से ही शटडाउन लेना पड़ा। जिसके कारण घिंघारतोला, कमेड़ीदेवी, कांडा-कमस्यारघाटी के सभी गांव दुग नाकुरी के रीमा, पचार, उडियार, बीसा, बास्ती, सनगाड़ सहित क्षेत्र के 190 गांव अंधेरे में डूब गए। इधर कपकोट ब्लाॅक के बिचला दानपुर को जोड़नी वाली नाचनी-शामा 33केवी लाइन के दो पोल भूस्खलन से ढह गए। जिसके चलते शामा, बड़ेत, हरसिंग्याबगड़, उलानी धार, शामा डाना, रिठकुला, हांप्टीकापड़ी, रातिरकेटी, सतगड़, लाथी, रमाड़ी, चुचेर, भनार सहित 46 गांवों की आपूर्ति ठप हो गई है।
ऊर्जा निगम के ईई भाष्कर पांडेय ने बताया कि कांडा और दुग नाकुरी की बिजली लाइन के सुदृढ़ीकरण के लिए आपातकालीन शटडाउन लेने से बाधित है। कपकोट के शामा क्षेत्र में पोल गिरने के कारण बिजली कटी हुई है।विभागीय कर्मचारी दोनों लाइनों की मरम्मत में जुटे हैं।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!