उत्तराखंडबागेश्वर

बागेश्वर में हर घर में नल, नल में मिलेगा जल

बागेश्वर। जनपद के प्रत्येक घर में स्वच्छ जल प्रर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने के लिए यह सुनिश्चित किया जाय कि इसके लिए एक मजबूत रणनीति के तहत कार्य योजना तैयार करते हुए निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति समय सीमा के अंतर्गत सुनिश्चित की जाए, यह बात जिलाधिकारी विनीत कुमार ने विकास भवन सभागार में आयोजित जल जीवन मिशन बैठक की समीक्षा करते हुए कही। बैठक में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि प्रत्येक घर में नल से जल उपलब्ध कराने के लिए जो लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं उसके आधार पर कार्ययोजना तैयार करते हुए जल्द से जल्द लक्ष्य प्राप्त करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन योजना भारत सरकार एवं राज्य सरकार की एक महत्वाकांशी योजना हैं जिसका मुख्य उद्देश्य प्रत्येक परिवार को पर्याप्त मात्रा में स्वच्छ जल उपलब्ध कराना हैं। उन्होंने यह भी कहा कि निर्धारित लक्ष्य 46812 के सापेक्ष 3015 परिवारों को पेयजल कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया हैं शेष 43797 घरों को कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए कार्य किया जा रहा है, जिसके लिए उन्होंने संबंधित ग्राम पंचायतों तथा राजस्व गांवों में सर्वेक्षण कर उनकी डीपीआर एवं कार्ययोजना तैयार करने को कहा। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दियें कि जिन ग्राम पंचायतों एवं राजस्व गांवों में समिति का गठन नहीं किया गया हैं उनमें समिति का गठन कराना सुनिश्चित करें, इसमें किसी प्रकार की कोर्इ लापरवाही न बरती जाए।

उन्होंने अधि.अभि. लोनिवि, सिंचार्इ तथा लघु सिंचार्इ को निर्देशित करते हुए कहा कि उकने स्तर जिन जेर्इ के द्वारा योजनाओं का सर्वेक्षण किया जाना हैं उनके द्वारा तत्परता से योजना का सर्वेक्षण सुनिश्चित कराया जाए, इस कार्य में यदि किसी जेई द्वारा लापरवाही बरती जाती हैं तो उसके विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दियें कि जिनके स्तर पर जो भी कार्य योजना तैयार की जानी हैं तथा उस पर जो भी कार्यवाही की जानी हैं सभी अधिकारी आपसी समन्वय के साथ तत्परता से कार्य करें, तभी लक्ष्य की प्राप्ति सुनिश्चित की जायेगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि जल जीवन मिशन अंतर्गत दिसम्बर, 2020 तक जो संशोधित कार्य योजना तैयार की गयी हैं जिसमें जल निगम को 32680 तथा जल संस्थान 14132 परिवारों को स्वच्छ जल उपलब्ध कराने को लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं, जिसके लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियो को निर्देश दियें कि इस हेतु गांवों का सर्वेक्षण कराते हुए विलेज एक्शन प्लांन व डीपीआर आदि का कार्य तत्परता से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन अंतर्गत किये जाने वाले कार्यो की गुणवत्ता एवं उनकी उपादयता आदि का मूल्यांकन तकनीकि समिति से परीक्षण कराते हुए तैयार प्राक्कलनों को अनुमोदन हेतु प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें,

ताकि योजना के धरातली स्वरूप के तहत गुणवत्ता के साथ कार्य किया जा सकें। समीक्षा बैठक में अपर परियोजना निदेश शिल्पी पंत ने जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि जल जीवन मिशन अंतर्गत शासन जारी दिशा निर्देशानुसार स्वजल को आंवटित 297 राजस्व गांवों को उत्तराखंड पेयजल निगम एवं जल संस्थान को हस्तांतरित किया गया हैं। उन्होंने अवगत कराया कि वर्तमान में 522 लक्ष्य के सापेक्ष 118 का प्राक्कलन तैयार किया गया हैं, 404 पर कार्यवाही की जा रही हैं। जिसमें लक्ष्य 46812 के सापेक्ष 3015 घरों को कनेक्शन उपलबध करायें गये हैं शेष 43797 घरों को कनेक्शन देने की कार्यवाही गतिमान हैं।

उन्होंने अवगत कराया कि जल निगम द्वारा 289 ग्राम पंचायतों तथा विकास खंड बागेश्वर के 329 राजस्व गांवों में 11775 तथा कपकोट की 131 राजस्व गांवों में 11367 तथा विकास खंड गरूड की 115 राजस्व गांवों में 9568 तथा जल संस्थान द्वारा 118 ग्राम पंचायतों तथा विकास खंड बागेश्वर की 138 राजस्व गांवों में 5038, विकास कपकोट के 67 राजस्व गांवों में 4035 तथा विकास खंड गरूड के 70 राजस्व गांवों में 5059 घरों को पेयजल कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं।

बैठक में 48 योजनाओं के डीपीआर प्रस्तुत किये गयें जिसमें जल निगम की 13 योजनाओं के लिए 683.84 लाख, जल संस्थान के 21 योजनाओं के लिए 358.23 लाख तथा स्वजल की 14 योजनाओं के लिए 403.34 लाख की धनराशि की डीपीआर को समिति द्वारा अनुमोदित किया गया। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि अगस्त, 2020 तक 222 कार्य योजनाओ में से 118 की डीपीआर स्वीकृति की गयी है।

हल्द्वानी : गोरापड़ाव क्षेत्र में जंगल में ले जाकर किशोर से सामुहिक कुकर्म, पेट में डाला लोहे का सरिया, किशोर की हालत नाजुक, पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी

Leave a Comment!

error: Content is protected !!