उत्तराखंडबागेश्वरब्रेकिंग न्यूज

बागेश्वर न्यूज : आपके बच्चों के जीवन की नींव, पहले हजार दिन NUTRITION, सुनहरे हज़ारों दिन

बागेश्वर। जनपद को कुपोषण से मुक्त कराने के लिए महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा 1 सिंतबर से 30 सिंतबर, 2020 तक पोषण माह के रूप में गया। जिसका समापन आज जिला कार्यालय में प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी केएन तिवारी की अध्यक्षता में किया गया। जिसमें पोषण माह के दौरान आयोजित कियें गयें कार्यक्रमों की जानकारी दी गयी। बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास राजेन्द्र प्रसाद बिष्ट ने अवगत कराया कि पोषण माह के अंतर्गत जनपद में 1 सितम्बर से 30 सितम्बर, 2020 तक 834 आंगनबाडी केन्द्रों में पोषण माह के संबंध में कार्यक्रम आयोजित कर गर्भवती महिलाओं एवं अन्य लोगो को कुपोषण के बारे में जानकारी दी गयी।

तथा इस पोषण अभियान के अंतर्गत स्थानीय खाद्यान्नों की जानकारी, पौष्टिक आहार, सुनहरे एक हजार दिन, एनीमिया व डायरिया पर ऑनलाइन सत्र, डायरिया प्रबंधन, एनीमिया प्रबंधन तथा साफ-सफाई एवं हैंड वॉश आदि कार्यक्रम आयोजित किये गये। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जनपद में कुपोषित बच्चों की संख्या 47 हैं तथा अतिकुपोषित बच्चों की संख्या 25 हैं, तथा अब तक 42 बच्चों को कुपोषण से मुक्त कराया गया हैं, जिसमें कुपोषितों की संख्या 35 थी, तथा अतिकुपोषित बच्चों की संख्या 07 थी, जो की अब सामान्य श्रेणी में आ गयें हैं। उन्होने कहा कि पोषण अभियान के तहत विभिन्न विभागों द्वारा भी इस अभियान में अपना सहयोग दिया गया तथा उनके द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी भी लोगो को उपलब्ध करायी गयी।
इस अवसर पर प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि बच्चों को कुपोषण से मुक्त कराने के लिए आंगनबाडी कार्यकत्री की अहम भूमिका होती हैं इसके साथ ही उनके द्वारा गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण, टीकारण से लेकर उनके स्वास्थ व खान-पान का विश्ेाष ध्यान रखने तथा संस्थागत प्रसव कराने में उन्हें उचित दिशा निर्देश देने में अपनी अहम भूमिका निभाती हैं। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर के लिए पौष्टिक आहार का होना नितान्त आवश्यक हैं। उन्होने कहा कि इस अभियान के दौरान आंगनबाडी कार्यकत्री एवं अन्य कार्मिकों द्वारा गर्भवती महिलाओं को पोषण के संबंध में जो भी जानकारी उपलब्ध कारायी गयी हैं, वह सभी के लिए लाभपरत होगी। उन्होने कहा कि जिस तरह से इस अभियान मे सभी ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी हैं इसके लिए आगे भी सभी इसी उत्साह एवं मनोबल से कार्य करें, ताकि जनपद को कुपोषण से मुक्त करने के लिए राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत 2022 तक जो लक्ष्य रखा गया हैं उस लक्ष्य में सफल हो पाये। पोषण अभियान के दौरान बेहतर कार्य करने वाली 3 सुपरवाइजर तथा 9 आंगनबाडी कार्यकत्रियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीके सक्सेना, प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी पदमेंद्र सकलानी, मुख्य कृषि अधिकारी वीपी मौर्या, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एमके टम्टा, जल निगम सीपीएस गंगवार, जिला पंचायत राज अधिकारी रामपाल सिंह सहित सभी विकास खंडों के परियोजना अधिकारी, सुपरवाइजर, आंगनबाडी कार्यकत्री व अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!