अल्मोड़ा। रमजान के इस पाक महीने में पूरा मुस्लिम समुदाय अल्लाह की इबादत में डूबा हुआ है। लोग रोजे रखकर कड़े नियमों का पालन कर रहे हैं। शहर के कई परिवारों के बड़ों के साथ बच्चों द्वारा भी रोजा रखा जा रहा है। लोग घरों में ही हर वक्त की नमाज अदा कर रहे हैं। यहां मल्ला दन्या निवासी पत्रकार नसीम अहमद के दो नन्हे बालकों ने भी आज पहली बार रोजा रखा। इन नन्हे रोजेदारों में मोहम्मद अर्श 10 साल के हैं, जबकि मोहम्मद अयान की उम्र 7 साल है। दोनों बच्चों ने अल्लाह से दुआ करी कि कोरोना की यह महामारी हमारे देश से जल्दी से जल्दी दूर हो जाये। उल्लेखनीय है कि रमजान का महीना सबसे पवित्र होता है। इसमें बुराइयों से दूर हटकर हम अपनी जाने-अनजाने में हुई गलतियों का प्रायश्चित करते हैं। अल्लाह अपने बंदों पर रहमत बरसाता है। सच्चे मन से उनकी इबादत करने पर बरकत होती है। इस महीने में पवित्रता के साथ रोजा रखकर पुण्य कमाया जाता है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here