चंपावत/लोहाघाट। चंपावत जिले के पाटी देवीधुरा मार्ग में गर्सलेख के पास गुरुवार देर रात एक अल्टो कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। इस हादसे में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से घायल महिला को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। वाहन में चार लोग सवार थे। सूचना पर पहुंची पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू अभियान चलाया।

चंपावत में हादसा : खाई में गिरी अल्टो कार

मिली जानकारी के मुताबिक वाहन संख्या UK03A7566 अल्टो कार हरिद्वार से पाटी वापस आते समय पाटी गर्सलेख के बीच गुरुवार की देर रात लगभग 1:30 बजे करीब 400 मीटर गहरी खाई में गिर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। कार में 04 लोग सवार थे।


वाहन में सवार वाहन चालक सहित तीन व्यक्तियों की मौके पर ही मृत्यु हो गई तथा एक महिला घायल हो गई। घायल महिला को 108 वाहन की मदद से उपचार हेतु जिला चिकित्सालय चंपावत भेजा गया है। मृतकों के शवों को एसडीआरएफ व फायर सर्विस तथा थाना पाटी पुलिस की मदद से खाई से निकालकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पाटी लाया गया है तथा मृतकों का पंचायत नामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। बताया गया कि सभी मृतक एक ही परिवार के हैं, जो हरिद्वार से परिजन का श्राद्धकर्म कर वापस लौट रहे थे।

वाहन में सवार 48 वर्षीय प्रदीप गहतोड़ी पुत्र स्व. बलदेव गहतोड़ी निवासी लड़ा हाल निवास न्यू कॉलोनी पाटी, 68 वर्षीय देवकी देवी पत्नी स्व. बलदेव गहतोड़ी निवासी लड़ा हाल निवास न्यू कॉलोनी पाटी, 53 वर्षीय वाहन चालक बसंत गहतोड़ी पुत्र ईश्वरी दत्त ग्राम लड़ा हाल निवास खटीमा की मौके पर ही मौत हो गई।

45 वर्षीय मंजू गहतोड़ी पत्नी प्रदीप गहतोड़ी गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल को 108 सेवा के माध्यम से प्राथमिक उपचार के लिए जिला अस्पातल भेजा जहां प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर भेज दिया गया। दुर्घटना की सूचना के बाद पार्टी बाजार और लड़ा गांव में मातम पसर गया है।

माता बहू और बेटा एक परिवार के तीन लोग
ग्रामीणों ने बताया बुधवार को सास देवकी देवी, बहु मंजू गहतोड़ी, पुत्र प्रदीप गहतोड़ी एक ही परिवार के हैं। वह स्व. बलदेव गहतोड़ी का श्राद्ध करने के हरिद्वार गए थे। हरिद्वार से लौटते समय पाटी के समीप मां देवकी देवी और पुत्र प्रदीप काल के गाल में समा गए, जबकि बहु मंजू गंभीर रूप से घायल है। प्रदीप खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में लिपिक के पद तैनात है। प्रदीप गहतोड़ी के तीन बच्चे हैं। जबकि वाहन चालक बसंत गहतोड़ी लड़ा गांव का ही है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here