सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल अल्मोड़ा पहुंचे, जहां पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उन्होंने मुलाकात की। मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने आपदा के दौरान प्रदेश सरकार की भूमिका पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार ने 36 घंटे पहले मिली चेतावनी के बावजूद राज्य सरकार का आपदा प्रबंधन संकट को टालने में नाकाम रहा।

रावत ने यहां होटल शिखर के सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि सबसे अहम सवाल यह है कि पूर्व चेतावनी जारी होने के बाद प्रदेश की धामी सरकार का आपदा प्रबंधन क्या कर रहा था। राज्य में इतनी बड़ी आपदा आई, बड़ी संख्या में लोगों की जानें गई, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री धामी अपनी गलती स्वीकार करने की बजाए ​आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर सिर्फ अपनी छवि बनाने में लगे हैं।


हरीश रावत ने कहा कि धामी एक भी आपदा पीड़ित के घर उनसे मुलाकात करने नहीं गये, बल्कि प्रभावितों को अपने पास बुला रहे हैं। उन्होंने कहा कि आपदा से पूर्व आम जनता को अलर्ट तक नहीं किया गया। यदि आपदा तंत्र पहले से सक्रिय हो जाता तो जान—माल के इतने बड़े नुकसान को कम किया जा सकता था।

पूर्व सीएम रावत ने आपदा को कम करने में नाकाम रहने के बाद सीएम अब महरम लगाने आपदा पीड़ितों से मिल रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि यदि कांग्रे सरकार आई तो आपदा के मानकों में बदलाव किए जाएंगे। आर्थिक सहायता राशि को भी बढ़ाया जायेगा। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ को अब भी बेहतर प्रशिक्षण की जरूरत है।

हरीश रावत ने कहा कि प्रांतीय क्षेत्रो में 5 से 10 लाख का भवन आदमी बनाता है जिसके हिसाब से वर्तमान में मिलने वाली आपदा राशि कुछ भी नहीं है। वहीं गणेश गोदियाल ने कहा कि प्रदेश में आई आपदा में राज्य सरकार पूरी तरह फैल है। गृह मंत्री से उम्मीद थी पर उन्होंने भी राज्य की सड़क को निराश किया। वहीं कांग्रेस में 6 विधायकों के लेकर कहा कि भाजपा में खलबाली मची है, लोग कांग्रेस की तरफ आ रहे हैं। गोदियाल ने कहा कि भाजपा से लोग कांग्रेस में आना चाहते हैं, पर कांग्रेस जमीनी कार्यकर्ताओं का खयाल रखेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा की आंतरिक स्तिथि ठीक नही है। प्रेस वार्ता में सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व विधायक मनोज तिवारी, जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे, उपाध्यक्ष तारा चंद्र जोशी, नगर अध्यक्ष पूरन रौतेला, राजेश बिष्ट, रमेश भाकुनी, बालम भाकुनी आदि मौजूद रहे।

गत रात्रि कर्नाटकखोला की रामलीला में की शिरकत
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत गत देर शाम अल्मोड़ा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अल्मोड़ा के कर्नाटकखोला मे चल रही महिला रामलीला में पहुंच कर राम राजदरबार अभिषेक की पूजा—अर्चना की और सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखा। साथ ही उन्होंने बालिकाओं को पुरुस्कृत भी किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि रामलीला का अपना ऐतिहासिक महत्व है। देश आजादी दौर में महान स्वतंत्रता के नायको ने आज़ादी अलख जगाई और पंडित नेहरु से लेकर जय प्रकाश ने रामलीलाओं के माध्यम आज़ादी का दीपक उद्घोषित किया था।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here