हल्द्वानी। कांग्रेस सेवादल के प्रदेश उपाध्यक्ष रमेश गोस्वामी ने कहा है कि जहां देवभूमि उत्तराखंड में सारे मंदिर बंद हैं, वहां पर सुबह 7:00 बजे से मदिरा की दुकानों का खुलना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा है कि सरकार देश को किस दिशा में ले जाना चाहती है, यह बात आमजन की समझ से परे है, सनातन सभ्यता के अनुसार सुबह-सुबह उठकर लोग भगवान को याद करते हैं, भगवान का नाम लेते हैं।

एक तरफ राम का नाम लेकर सत्ता में आने वाले सुबह-सुबह देश और प्रदेश में शराब की बिक्री कर रहे हैं। इस घृणित कार्य के लिए कांग्रेस सेवादल सरकार की घोर और कड़ी निंदा करता है। अगर सरकार को बहुत जरूरी लगता था तो यह कार्य 12:00 बजे से शाम के 4:00 बजे तक। सरकार को जनता से ज्यादा शराब विक्रेताओं की चिंता है आमजन से इस सरकार का कोई लेना देना नहीं है।

इस प्रकार का निर्णय लेकर सरकार कोरोना जैसे रोग को फैलने से कैसे रोकेगी। सरकार के इस निर्णय के बाद जगह-जगह भीड़ ही भीड़ इकट्टी हो रही है जिससे सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ रही हैं, यह बहुत ही चिंता का विषय है।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here