सीएनई रिपोर्टर

दिल्ली की सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली तिहाड़ जेल में कुख्यात गैंगस्टर अंकित गुर्जर की हत्या हो गई है। जेल प्रशासन इसे जेल के भीतर हुआ गैंगवार बता रहा है, जबकि परिजनों ने पुलिस पर अंकित की पीट—पीटकर निर्मम हत्या करने के गम्भीर आरोप लगाये हैं।

आज बुधवार को तिहाड़ जेल की बैरक नंबर 03 में अंकित गुर्जर मृत पाया गया। जिसके बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। ज्ञात रहे कि गैंगस्टर अंकित गुर्जर बागपत के खैला गांव का रहने वाला था। पूर्व प्रधान विनोद की हत्या के मामले में उस पर एक लाख का इनामी था। उसे दिल्ली पुलिस ने हरियाणा में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। 

पंचायत चुनाव में अंकित उर्फ बाबा का खौफ सार्वजनिक हुआ था। जब उसके नाम से गांव में चस्पा लगाये गये थे। जिसमें विरोध में खड़े होने वालों को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी गई थी। उसकी मां गीता वर्तमान में ग्राम प्रधान है।

👉👉  ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

इधर अंकित के परिजनों ने जेल अधिकारियों पर हत्या करने के गम्भीर आरोप लगाया है। उनके अनुसार पुलिस व जेल प्रशासन एक कहानी गढ़ रहा है। परिजनों का आरोप है कि मंगलवार को पुलिस अधिकारियों ने अंकित के पास से मोबाइल पकड़ा था, जिसके बाद उसकी एक जेल अधिकारी के साथ हाथापाई हो गई थी।
 
परिजनों का यह आरोप है कि पुलिस ने बदला लेने की नियत से उसे उठाया और पीट—पीट कर उसकी हत्या कर दी। हालांकि जेल प्रशासन व पुलिस ने सभी आरोपों को नकारते हुए कहा कि जेल में कैदियों के बीच झगड़े के बाद जमकर मारपीट हुई, जिसमें अंकित की मौत हो गई।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here